आसान मसाला डोसा रैसिपि 2023 - Masala Dosa Recipe in Hindi

आसान मसाला डोसा रैसिपि 2023 - Masala Dosa Recipe in Hindi

हैलो दोस्तों आशा करते हैं कि आपको एक स्वादिस्ट और पोषक तत्वों से भरपूर नाश्ता व्यंजन की खोज है| यदि है, तो यह masala dosa recipe आपके लिए एक बेहतरीन नाश्ता व्यंजन हो सकता है| आज की इस पोस्ट में हम आपको masala dosa recipe in hindi में बताएँगे| यह मसाला डोसा रैसिपि दक्षिण भारत जैसे - कर्नाटक, तमिलनाडू, आंध्र प्रदेश तथा केरल का प्रसिद्ध नाश्ता है, जो की पोषक तत्वों से भरपूर होता है| इसमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स, विटामिन्स, मिनरल्स और भी पोषक तत्व पाये जाते हैं| जो की आपके शरीर के लिए फायदेमंद और जरूरी होते हैं| इस रैसिपि को घर पर बनाना बहुत ही आसान है| आप इस masala dosa recipe को दहि और चटनी के साथ या सिर्फ सांभर के साथ सर्व कर सकते हैं| इस पोस्ट में हमने masala dosa recipe के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देने की कोशिश की है, कि कैसे आप इसको अपने घर पर बना सकते हो और इसमें कोन-कोन से पोषक तत्व पाये जाते हैं, कितने समय में यह रैसिपि तैयार होती है, किन लोगों के लिए यह recipe सही है और किन लोगों के लिए यह रैसिपि सही नहीं है| तो चलो सुरू करते हैं आज कि ताजा masala dosa recipe in hindi -

आसान मसाला डोसा रेसिपी - Masala Dosa Recipe

masala dosa recipe in hindi

1. मसाला डोसा रेसिपी क्या है? - What is Masala Dosa Recipe 

  • मसाला डोसा एक प्रसिद्ध दक्षिण भारतीय व्यंजन है, जो दही और चटनी के साथ या सिर्फ सांभर सॉस के साथ परोसा जाता है| यह उत्तेजक और पौष्टिक होता है और विशेषकर सुबह के नाश्ते के रूप में बहुत पसंद किया जाता है| इसमें आलू, उड़द दाल और चावल के बेल आटे का उपयोग किया जाता है जो इसे एक स्वादिष्ट और संतुलित व्यंजन बनाता है|

सामिग्री - Ingredients for Masala Dosa Recipe

  1. चावल का आटा - 1 कप
  2. उड़द दाल का आटा - ½ कप
  3. आलू - 2 (उबले हुए और कटे हुए)
  4. हरी मिर्च - 2 (बारीक कटी हुई)
  5. प्याज - 1 छोटी (बारीक कटी हुई)
  6. गाजर - ½ छोटी (कद्दुकस की हुई)
  7. टमाटर - 1 छोटा (कटा हुआ)
  8. तेल - 1 टेबल स्पून
  9. नमक स्वादनुसार
  10. हरा धनिया पत्तियां, बारीक कटी हुई (गार्निश के लिए)
तैयारी का समय: 25 मिनट
पकाने का समय: 15 मिनट
कुल समय: 40 मिनट

मसाला डोसा बनाने की विधि - Masala Dosa Recipe in Hindi

masala dosa recipe in hindi

मसाला डोसा बनाने की विधि - Masala Dosa Recipe in Hindi

  1. अब आप सबसे पहले चावल और उड़द दाल के आटे को अलग-अलग बर्तन में अलग-अलग बारीक पीसा लें| फिर आप इनको एक साथ मिलाकर अच्छी तरह से मिक्स करें| फिर इसमें पानी मिलाएँ और घूंट लें जिस से एक गाढ़ा बैटर तैयार हो सके| फिर इसको एक साइड में रख दें और 1 घंटे के लिए रखे रहने दें|
  2. फिर इसके बाद आप आलू, हरी मिर्च, प्याज, गाजर और टमाटर को एक साथ किसी कढ़ाई में तेल में भून लें| फिर जब यह सभी सब्जियाँ आधा पक जाएँ, तो इसमें नमक और धनिया पत्तियाँ मिला दें और अच्छे से मिक्स करें| इस से मसाला डोसा का मसाला तैयार हो जाएगा|
  3. फिर आप एक नॉन स्टिक तवे को गरम कर लें और उस पे थोड़ा सा तेल लगाकर घीस दें| इसके बाद इसमें तैयार की गई बैटर डालकर चकली की तरह घुमाएं| जब डोसा एक्सट्रा क्रिस्पी हो जाये तो उसके एक साइड पर तैयार किया गया मसाला रख कर उसे धक दें|
  4. कुच्छ समय के लिए धक दें, ताकि डोसा और मसाला अछि तरह से मिल जाएं| आपका स्वादिस्ट मसाला डोसा तैयार है| अब डोसा को खोलें और उसे सांभर सौंस, दहि या चटनी के साथ गरमा-गरम परोसें|
  5. अब आप तैयार मसाला डोसा को गरमा-गरम नाश्ते के रूप में परिवार के सभी लोगों को सर्व कराएं| इसका स्वाद पोष्टिकता हमेशा यादगार रहता है| इसको बनाना भी बहुत आसान है, तो अब आप भी घर पर इस रैसिपि को बनाकर अपने परीवार वालों को खुस कर सकते हैं|
video credit - nisha madhulika

3. मसाला डोसा को कहां-कहां बनाया जाता है?

  • मसाला डोसा भारत के दक्षिणी राज्यों, जैसे कि कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, और केरल में विशेष रूप से प्रचलित है| यहां की लोकप्रियता के कारण यह दूसरे राज्यों में भी पसंद किया जाता है| भारतीय भोजन के रूप में इसे विभिन्न अवसरों पर तैयार किया जाता है, जैसे कि नाश्ते के समय या दोपहर के भोजन के रूप में| आधुनिक रेस्टोरेंट्स और होटल में भी इसे आसानी से प्राप्त किया जा सकता है|

4. मसाला डोसा रेसिपी में क्या-क्या पोषक तत्व हैं?

  • मसाला डोसा एक पौष्टिक व्यंजन है जो कई पोषक तत्वों से भरपूर होता है| इसमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स, विटामिन्स, और मिनरल्स होते हैं जो आपके शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं|
  • आलू: आलू में कार्बोहाइड्रेट्स, पोटैशियम, विटामिन सी, और फोलिक एसिड होता है| ये आपके शरीर के ऊर्जा स्तर को बढ़ाते हैं और न्यूरोन्स को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं|
  • उड़द दाल: उड़द दाल में प्रोटीन, आयरन, फोस्फोरस, और मैग्नीशियम होता है| ये हड्डियों के लिए लाभकारी होते हैं और शरीर को ऊर्जा प्रदान करते हैं|
  • चावल: चावल में आर्गेनिन नामक एमिनो एसिड, विटामिन बी, फोस्फोरस, और मैग्नीशियम होता है| इससे आपके शरीर के मस्तिष्क का विकास होता है और शरीर में ऊर्जा का स्तर बढ़ता है|
  • गाजर और टमाटर: गाजर में बीटा-कैरोटीन और टमाटर में लाइकोपीन होता है, जो शरीर के लिए गुणकारी होते हैं और रोगों से लड़ने में मदद करते हैं|

5. किन लोगों के लिए यह रेसिपी फायदेमंद है?

  • मसाला डोसा एक विशेषकर उन लोगों के लिए फायदेमंद है जो सुबह के नाश्ते में पौष्टिकता और स्वाद को संतुष्ट करना चाहते हैं| इसे अपने दैनिक आहार में शामिल करने से बच्चे, युवा और वृद्ध व्यक्ति सभी को इसके पोषक लाभ मिलते हैं| विशेष रूप से वे लोग जो सकारात्मक और तंदुरुस्त जीवनशैली को अपनाते हैं, उन्हें इसे नियमित रूप से सेवन करना चाहिए|

सांभर रैसिपि इन हिन्दी - sambar recipe in hindi

sambar recipe in hindi

सांभर रैसिपि इन हिन्दी - sambar recipe in hindi

आप इस रैसिपि को सांभर के साथ भी सर्व कर सकते हैं -

यहाँ हम सांभर की रैसिपि बता रहे हैं| आप मसाला डोसा को सांभर के साथ सर्व कर सकते हो सांभर एक प्रसिद्ध दक्षिण भारतीय व्यंजन है जो अरहर दाल, ताजगी भरे सब्जियों, और खास मसालों से तैयार किया जाता है| यह खास तौर पर मसाला डोसा और इडली के साथ मिलाकर सर्व किया जाता है और नाश्ते के समय खाया जाता है| सांभर की स्वादिष्ट खुशबू, दालचीनी और इलायची के मिलन से उसका स्वाद और भी उत्कृष्ट बन जाता है| यह भारतीय रेस्टोरेंटों और धाबों में विशेष रूप से पसंद किया जाता है और अब आप भी इस लाजवाब व्यंजन का आनंद घर पर उठा सकते हैं|

सामग्री: -Ingredients for sambar recipe

  • दाल - 1 कप अरहर
  • सांभर मसाला - 1 छोटा कटोरा
  • छोले - 1/2 कप
  • सब्जियाँ - 1/2 कप (ताजा मिक्स वनस्पति, गाजर, फ्रेंच बीन्स, बैंगन, टमाटर, प्याज़)
  • 2 या 3 हरी मिर्च
  • टमाटर प्यूरी - 1 छोटी
  • राई - 1 चम्मच
  • हल्दी पाउडर - 1/2 चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर - 1 चम्मच
  • नमक स्वादानुसार
  • पानी
  • तेल
  • हरा धनिया पत्ती

सांभर बनाने की विधि - Sambar Banane ki Vidhi

  1. सबसे पहले आप किसी बर्तन मैं अरहर की दाल ,छोले तथा हरी मिर्च लेकर इनको अच्छी तरह से धो लें|
  2. फिर कुकर में पानी और हल्दी डाल लें और अच्छी तरह से मिला लें और उबाल लें उबाल आने तक पकाएं|
  3. अब इस कुकर को ठंडा होने दें| और कुकर को ध्यान से खोलें|
  4. अब सारी सब्जियों को धोकर छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें|
  5. अब किसी कड़ाई में तेल गरम कर के राई को डाल दें|
  6. जब राई सूखाए तो इसमें कटी हुयी सब्जियों को दाल दें| साथ ही लाल मिर्च पाउडर और नमक भी डाल दें|
  7. अब सब्जियों को अच्छी तरह से मिलाएँ | फिर उनको एक बार पकने के लिए छोड़ दें ताकि वे पकने लगें|
  8. अब जब सब्जियाँ पक जाएँ तो इसमें टमाटर की प्यूरि डाल दें| और अच्छी तरह से मिला लें|
  9. अब इसको प्रेशर कुकुर में डाल दें| और मसालों को डालें और सब्जियों के साथ अच्छी तरह से मिला लें|
  10. इसके बाद कुकर में दाल और मसालों का मिश्रण दलल दें| और सब्जियों के साथ अच्छी तरह से मिलाएँ|
  11. अब कुकर को बंद करके रख दें और मसालों को एक सीटी लगने ताज पका लीजिये|
  12. अब इस कुकर का दबाव सामान्य हो जाए तो इसको ध्यान से खोलें|
  13. सांभर को गरम करके इसको हरा धनिया से सजाएँ|

6. संपादन का विधान (Conclusion)

  • मसाला डोसा एक लोकप्रिय और पौष्टिक भारतीय व्यंजन है जिसे तैयार करना सरल और आसान है| इसके स्वाद और पोषक लाभ इसे एक आकर्षक विकल्प बनाते हैं जो सुबह के नाश्ते में परिवार के सभी सदस्यों को संतुष्ट करता है| इस लेख में हमने मसाला डोसा रेसिपी के बारे में जानकारी दी, इसे कैसे बनाया जाए और इसमें कौन-कौन से पोषक तत्व होते हैं| तो अब जल्दी से रसोई में जाएं, मसाला डोसा बनाएं और इस स्वादिष्ट व्यंजन का आनंद उठाएं|

ध्यान देने वाली बातें -

  1. बैटर की सही गाढ़ाई: चावल और उड़द दाल के आटे की गाढ़ाई को सही रखना महत्वपूर्ण है| गाढ़े बैटर से अच्छे से फूले हुए और क्रिस्पी डोसे बनेंगे| ध्यान दें कि बैटर को १ घंटे के लिए फरार करने से वह ठीक से फूलेगा|
  2. तवे की सही तापमान: डोसा बनाने के लिए तवा को अच्छी तापमान पर गरम करें| अधिक गरम तवा डोसे को जला सकता है और कम गरम तवा में डोसे फूले नहीं पाएंगे|
  3. मसाला की बेहतरीन तैयारी: वेजिटेबल मसाला को सही तरीके से भूनने से उसका स्वाद और गंध बढ़ता है| सब्जियों को हल्का भूरा होने तक भूनें और उनमें नमक और धनिया पत्तियों को मिला कर मसाला तैयार करें|
  4. उतार-चढ़ाव का ध्यान: डोसे को तवा पर डालने और उतारने के वक्त का ध्यान रखें। डोसे को हल्के हाथों से उतारें ताकि वह टूट न जाएं|
  5. सारी सामग्री तैयार: डोसे बनाने से पहले सभी सामग्री तैयार करें| इससे बनाने का काम आसान होगा और समय भी बचेगा|
  6. प्रोटीन स्रोत: इस रेसिपी में उड़द दाल शामिल होती है, जो एक अच्छा प्रोटीन स्रोत है| इससे यह व्यंजन उत्तेजक होता है और भोजन का पौष्टिकता मानक को पूरा करता है|
  7. इन बातों का ध्यान रखते हुए, आप मसाला डोसा बनाने में सफलता प्राप्त करेंगे और इस स्वादिष्ट भारतीय व्यंजन का आनंद उठा सकेंगे|

किसके साथ और कब सर्व करें -

मसाला डोसा रेसिपी को आम तौर पर सुबह के नाश्ते के समय सर्व किया जाता है| इसे दही और चटनी के साथ या सांभर सॉस के साथ परोसा जा सकता है| कुछ लोग इसे शाम के वक्त भी मध्याह्न भोजन के रूप में सर्व करते हैं| मसाला डोसा को भारत के दक्षिणी राज्यों जैसे कि कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, और केरल में विशेष रूप से रस्ते पर मिलने वाले वेंडर्स और रेस्टोरेंट्स में आसानी से प्राप्त किया जा सकता है| भारत के उत्तरी राज्यों में भी इसकी प्रसिद्धि बढ़ती जा रही है और लोग इसे विशेष अवसरों और मेलों में बनाकर सर्व करते हैं| अब आप इस स्वादिष्ट व्यंजन का मजा घर पर भी उठा सकते हैं और परिवार के सभी सदस्यों को खुश कर सकते हैं|

FAQ:

1.दौसा में क्या क्या लगता है?
Ans. masala dosa ingredients
  • Ans. 1 कप चावल का आटा
  • ½ कप उड़द दाल का आटा
  • 2 आलू, उबले हुए और कटे हुए
  • 2 हरी मिर्चें, बारीक कटी हुई
  • 1 छोटी प्याज, बारीक कटी हुई
  • ½ छोटी गाजर, कद्दुकस की हुई
  • 1 छोटी टमाटर, कटा हुआ
  • 1 टेबल स्पून तेल
  • नमक स्वाद के अनुसार
  • हरा धनिया पत्तियां, बारीक कटी हुई (गार्निश के लिए)

2. डोसा कितने प्रकार के होते हैं?
Ans. डोसा भी नाना प्रकार के होते हैं, जैसे कि- मैसूर डोसा, रवा डोसा, प्याज डोसा, मसाला डोसा, पेपर डोसा आदि. मसाला डोसा आलू का मसाला भरकर बनाया जाता है.

3. दोसा से क्या होता है?
Ans. दौसा को देवनगरी के नाम से भी जाना जाता है| झाझीरामपुर प्राकृतिक कुंड और रुद्र, बालाजी तथा अन्य देवी-देवताओं के मंदिरों के लिए प्रसिद्ध है| यह स्थान दौसा नगर से 45 किलोमीटर की दूरी पर है। पहाड़ियों से घिरी इस जगह की प्राकृतिक और आध्यात्मिक सुंदरता मन को सुकून पहुँचाती है|

4. दौसा का पुराना नाम क्या है?
Ans. मी. दूरी पर बसा यह एक प्राचीन नगर है। राष्ट्रीय राजमार्ग 11 पर स्थित दौसा का नाम 'देव नगरी' भी है|

5. राजस्थान में दौसा क्यों प्रसिद्ध है?
Ans. एक समय एक महत्वपूर्ण राजनीतिक शहर, कई प्रमुख स्वतंत्रता सेनानियों का जन्मस्थान , दौसा अपने प्रारंभिक मध्ययुगीन स्मारकों के लिए प्रसिद्ध है|

6. दोसा कौन से देश का है?
Ans. दोसा दक्षिण भारत का एक पतला पैनकेक या क्रेप है, जो मुख्य रूप से दाल और चावल के किण्वित घोल से बनाया जाता है| यह दिखने में कुछ हद तक क्रेप के समान है, यद्यपि साधारणतः दिलकश स्वादों पर जोर दिया जाता है (मीठे प्रकार भी उपलब्ध हैं)|

7. इडली डोसा बैटर के लिए किस चावल का उपयोग किया जाता है?
Ans. इडली चावल के साथ: परंपरागत रूप से इडली बैटर बनाने के लिए इडली चावल और उड़द दाल का उपयोग किया जाता है| इडली चावल उबले हुए चावल हैं और विशेष रूप से इडली और डोसा बनाने के लिए उपयोग किए जाते हैं| यह रेसिपी पोस्ट इडली चावल और नियमित सफेद चावल के साथ इडली बनाने की विधि साझा करती है| आप छोटे दाने वाले चावल से भी इडली बना सकते हैं|

8. क्या डोसा खाने के लिए अच्छा है?
Ans. ऐसा फूड खाने में अच्छा है जो लो कैलोरी हो और आपकी भूख को भी शांत कर दे| डोसा इस लिहाज से परफेक्ट है, जो आपकी टेस्ट बड्स को भी शांत करता है और हल्का भी है|

9. कितने डोसे खाने चाहिए?
Ans. यह पोषक तत्वों से भरपूर है, प्रसंस्कृत नहीं है और सबसे अच्छी बात यह है कि इसे घर पर आसानी से बनाया जा सकता है| इसे पचाना भी आसान है, जिसका मतलब है कि यह धीरे-धीरे ऊर्जा छोड़ता है और आपको लंबे समय तक तृप्त रखता है| 1 या 2 डोसा खाने से आपका पेट भरा रह सकता है|

10. पहला मसाला डोसा किसने बनाया था?
Ans. तट पर अधिकांश डोसा इस बैटर का उपयोग अलग-अलग आकार के पेपर डोसा बनाने के लिए करते हैं, जिन्हें चटनी और सांबर के साथ खाया जा सकता है, या मसाला डोसा जैसे पकवान के आधार के रूप में उपयोग किया जा सकता है| ऐसा कहा जाता है कि मसाला डोसा का आविष्कार 1940 के दशक के अंत में उडुपी के प्रसिद्ध मित्र समाज रेस्तरां में हुआ था|

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.